लगा कर महेंदी

लगा कर महेंदी मेरे नाम की  दिल को चुरा लिया । 
आई वो खुशबु जिसने मन को महका दिया ।।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें