नादान है दिल.......


नादान है दिल, जो नादानिया करता है ।
अक्सर भुलाने के बहाने से याद करता है ।।
कहता है वो की मोहब्बत करता है मुझसे ।
सच तो ये है की भूलने की वो दुआ करता है ।।



Nadan He Dil, Jo Nadaniyan Karta He.
Aksar Bhulne Ke Bahane Se Yad Karta He..
Kahta He Ki Wo Mohabbat Karta He Mujhse.
Sach To Ye He Ki Wo Bhulne Ki Dua Karta He..
© Shekhar Kumawat

1 टिप्पणी: