एक खता........

एक खता हमसे नहीं होती । 
एक खता उनसे नहीं होती ॥ 
ना जाने कोनसी खता हुई हमसे । 
जो ये खता फिर से नहीं होती  ॥ 

 

 © Shekhar Kumawat

2 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत सुन्दर प्रस्तुति..!
    --
    शस्य श्यामला धरा बनाओ।
    भूमि में पौधे उपजाओ!
    अपनी प्यारी धरा बचाओ!
    --
    पृथ्वी दिवस की बधाई हो...!

    उत्तर देंहटाएं
  2. .भावात्मक अभिव्यक्ति ह्रदय को छू गयी जिम्मेदारी से न भाग-जाग जनता जाग" .महिला ब्लोगर्स के लिए एक नयी सौगात आज ही जुड़ें WOMAN ABOUT MANजाने संविधान में कैसे है संपत्ति का अधिकार-2

    उत्तर देंहटाएं